पूर्व मंत्री और डिंडोरी विधायक के नाम से एक लाख रुपए की ठगी का मामला

Listen to this article

बस्ती विकास योजना में दलाली का खुलासा

 

जनपथ टुडे, डिंडोरी, 12 जून 2021, ग्राम पंचायत पलकी के उपसरपंच कपूर वनवासी ने पुलिस अधीक्षक कार्यालय में एक लिखित शिकायत पत्र देकर मांग की है कि पुलिस पूर्व मंत्री और डिंडोरी विधायक ओमकार मरकाम के दबाव में ₹100000 (एक लाख) की ठगी करने वाले आरोपी के विरुद्ध कार्यवाही नहीं कर रही है और आवेदक परेशान होकर दर-दर भटक रहा है।

क्या है मामला ?

अपने शिकायत पत्र में शिकायतकर्ता कपूर वनवासी पिता शालिकराम ने बताया कि अनावेदक ईश्वर तेकाम के द्वारा आवेदक से डिंडोरी विधायक और पूर्व मंत्री से बस्ती विकास मद से ग्राम पंचायत में 20 लाख रुपए का निर्माण कार्य स्वीकृत कराने के वास्ते एक लाख की रकम ऐंठ ली थी और फिर कोई कार्य स्वीकृत नहीं करवाया गया और न ही कमीशन के तौर पर ली गई पेशगी की रकम एक लाख रुपए लौटाए जा रहे है।जिसकी शिकायत कोतवाली पुलिस डिंडोरी में आवेदक के द्वारा 21 मार्च 2021 को लिखित में पेश की गई थी और कार्यवाही कर न्याय दिलाने की मांग की थी।

आवेदन में शिकायतकर्ता ने बताया। की ईश्वर तेकाम ग्राम धवा डोंगरी, थाना गाड़ासरई, डिंडोरी का निवासी है। जिसने अपने आप को तत्कालीन मंत्री ओमकार मरकाम का करीबी नातेदार बता कर आश्वस्त किया कि मैं तुम्हें बस्ती विकास योजना के अंतर्गत 2000000 ( बीस लाख) रुपए का काम दिलवा दूंगा 15 दिन में कार्य स्वीकृत हो कर राशि पंचायत के खाते में भेज दी जावेगी। और उस काम में रेत, गिट्टी आदि सामग्री की सप्लाई मैं करूंगा। लेकिन काफी समय बीत जाने के बाद भी जब कोई कार्य स्वीकृत नहीं हुआ तब आवेदक ने अपनी राशि वापस मांगी तब पहले तो वह राशि वापस करने का आश्वासन देता रहा फिर, दबंगई दिखाते हुए यह कहते हुए की डिंडोरी विधायक पूर्व मंत्री ओमकार मरकाम मेरा रिश्तेदार है कोई मेरा कुछ नहीं बिगाड़ सकता मैं पैसे वापस नहीं करूंगा। तुम जहां चाहे शिकायत करो है मैं किसी से नहीं डरता। जिसके बाद अब उप सरपंच, कपूर वनवासी ने जिला अधीक्षक कार्यालय में शिकायत देकर कार्यवाही की मांग की है।

 

बस्ती विकास योजना पर उठते रहे है सवाल

जिले में बस्ती विकास योजना अन्तर्गत भ्रष्टाचार और गड़बड़ियों सहित बड़े स्तर पर कमीशनखोरी और दलाली की चर्चाएं व्यापत रही है। योजना अन्तर्गत जिले में करवाए गए निर्माण कार्यों की गुणवत्ता को लेकर भी सवाल उठाए जाते रहे है। कई बार बस्ती विकास योजना में भ्रष्टाचार और कार्यों में गड़बड़ी की जांच की मांग भी उठती रही है।कि प्रशासन द्वारा न तो कभी इसे गंभीरता से लिया गया न ही कोई जांच कर कार्यवाही की गई। पूर्व मंत्री के राजनैतिक रसूख के चलते अभी तक बहुत से शोषण का शिकार हुए लोग चुप थे किन्तु अब ऐसे बहुत से मामले धीरे धीरे चर्चा में आ रहे है। वहीं स्थानीय पुलिस द्वारा कार्यवाही नहीं किए जाने पर पीड़ित पक्ष अपनी शिकायत पुलिस अधीक्षक को सौंप कार्यवाही की मांग कर रहे है। जिन पर समय रहते उचित कार्यवाही नहीं होने पर मामले और ऊपर तक भी ले जाए जा सकते है। पुलिस अधीक्षक द्वारा उक्त मामले की जांच करवा कर जल्दी ही आरोपी के खिलाफ कठोर कार्यवाही की जनपेक्षा है।


Related Articles

Close
Website Design By Mytesta.com +91 8809 666000